गठिया का इलाज के 10 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे इन हिंदी

Gathiya ka ilaj गठिया का इलाज के 10 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे इन हिंदी

गठिया का इलाज इन हिंदी: गठिया को बाय, गाउट और अर्थराइटिस से भी जानते है। इस रोग में जोड़ों, घुटने और हड्डियों में दर्द और सूजन की शिकायत होती है। सही तरीके से इसका ट्रीटमेंट किया जाये तो आसानी से गठिया के दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। कुछ लोग घुटने और जोड़ों के दर्द के उपचार के लिए गठिया की दवा (मेडिसिन) लेते है तो कुछ लोग दर्द निवारक तेल और योग से अर्थराइटिस में दर्द के उपाय करते है। दवा और तेल के इलावा आप घरेलू उपाय और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे से गठिया के दर्द का इलाज कर सकते है। आइये जाने desi upchar, ayurvedic upay aur gharelu nuskhe for gathiya (arthritis), joint pain treatment in hindi.

गठिया का इलाज इन हिंदी, Gathiya ka ilaj in hindi

 

गठिया के लक्षण: Arthritis Symptoms

  1. पैरों के पंजे में दर्द
  2. घुटनों में दर्द और सूजन
  3. उंगलियों के जोड़ों में दर्द
  4. जोड़ों में अकड़न और दर्द
  5. कंधों में दर्द महसूस करना

 

घुटने और जोड़ों के दर्द का कारण: Gathiya ke Karan 

  • शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने पर joints pain और हड्डियो में दर्द की समस्या आने लगती है और अगर समय पर इसका इलाज ना करे तो धीरे धीरे ये गठिया बन जाता है।
  • शारीरिक श्रम ना करने पर भी अर्थराइटिस की समस्या हो सकती है।

 

गठिया का इलाज के उपाय और घरेलू नुस्खे

Gathiya ka ilaj Upay aur Gharelu Nuskhe in Hindi

 

1. एक गिलास गाय के दूध में दस कलियां लहसुन की डाल कर पंद्रह मिनट तक गरम करे फिर ठंडा होने पर पिए। प्रतिदिन इस घरेलू नुस्खे को करने से गठिया की समस्या से जल्दी आराम मिलता है।

2. घरेलू तरीके से अर्थराइटिस का इलाज में सब से जरुरी है पानी जादा पीना। प्रतिदिन तीन से चार लीटर पानी जरुर पीना चाहिए, इससे शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थ पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाते है। इसके इलावा इस उपाय से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड भी बाहर निकल जाता है।

3. संतरे और नींबू का रस शरीर में यूरिक एसिड को कम करने में असरदार है। रोजाना एक गिलास संतरे का जूस पिए। इसके इलावा दो नींबू एक गिलास पानी में निचोड़ कर पिए।

4. इस रोग में 100 एम एल आलू का रस खाना खाने से पहले लेने से फायदा मिलता है।

5. गठिया की दवा घर पर बनाने के लिए थोड़ी सुखी अदरक ले और पीस कर इसका पाउडर बना ले। अब  तीन चम्मच काली मिर्च पाउडर, छह चम्मच अदरक पाउडर और छह चम्मच जीरा पाउडर मिलाकर रख ले। अब इस मिश्रण का आधा चम्मच दिन में तीन बार पानी के साथ ले। इसके अतिरिक्त प्रतिदिन अदरक का 1 छोटा सा टुकड़ा चबाना भी फायदेमंद है।

6. एक चम्मच मेथी बीज रात को सोने से पूर्व पानी में भिगो कर रखे और सुबह को इन्हें खाली पेट चबा चबा खाए। इस होम रेमेडी से गठिया बाय की समस्या से जल्दी आराम मिलता है।

7. गठिया का अचूक इलाज है हल्दी। जोड़ों और घुटने के दर्द और सूजन को दूर करने में हल्दी इस्तेमाल करना अच्छा उपाय है।

8. अर्थराइटिस से छुटकारा पाने के लिए विटामिन सी, कैल्शियम और जिंक प्रयाप्त मात्रा में ले।

9. जोड़ों के दर्द का तेल में जैतून का तेल काफी उपयोगी है। जैतून के तेल से जोड़ों की मालिश करने से दर्द, सूजन और गठिया से राहत मिलती है। अदरक का तेल भी जोड़ों के लिए दर्द निवारक तेल है। इस तेल से जोड़ों की मालिश करने से गठिया के दर्द और सूजन से राहत मिलती है।

10. गठिया पूरी तरह से ख़तम करने के लिए ककड़ी, खीरा या तरबूज में से कोई भी एक का 1 गिलास जूस रोजाना खाली पेट पिए फिर दिन में कुछ ना खाए पिए। चाहे तो आप शाम को थोड़ा बहुत हल्का खा पी सकते है।

 

गठिया का आयुर्वेदिक उपचार: Ayurvedic treatment for gathiya in hindi

  1. गिलोय, देवदारू, अरंड की जड़, सौंठ और लहसुन सब को पचास ग्राम की मात्रा में ले और पीस कर एक शीशी में भर ले।  अब आपकी गठिया की आयुर्वेदिक दवा त्यार है। हर रोज सुबह शाम दो चम्मच मिश्रण एक गिलास पानी में डाल कर उबाले और पानी आधा रहने पर इसे छान ले और ठंडा होने पर पिए।
  2. गठिया का रामबाण इलाज, बथुआ के पत्तों का रस 50 एम एल की मात्रा में खाली पेट पीने पर अर्थराइटिस में तेज़ी से राहत मिलती है। इसे उपाय को करने के एक घंटा पहले और एक घंटा बाद कुछ न खाए पिए। बथुए के पत्तों को आटे में गूँथ कर इसकी रोटी खाने से भी आराम मिलता है।
  3. एक छोटा चम्मच दालचीनी और 1 बड़ा चम्मच शहद मिलाकर गरम पानी के साथ रोजाना लेने से गठिया के उपचार में मदद मिलती है।

 

जोड़ों का दर्द की दवा पतंजलि : Gathiya ki baba ramdev patanjali dawa

गठिया के दर्द का इलाज बाबा रामदेव की दवा से करने के लिए पतंजलि के स्टोर से पीड़ान्तक वटी ले सकते है ये घुटने के दर्द, जोड़ों के दर्द और गठिया से छुटकारा पाने की आयुर्वेदिक मेडिसिन है। इस दवा को लेना का तरीका दवा की डब्बी पर लिखा होता है।

योग से भी गठिया और घुटने के दर्द में राहत मिलती है। ध्यान रहे की आप योगा गुरु से सिख कर ही गठिया के योगासन करे। इससे आप योग का सही तरीका जान सकेंगे और किसी भी तरह के नुकसान से बचे रहेंगे।

 

गठिया रोग में परहेज

  • गठिया के रोग से प्रभावित रोगी को ना ही अधिक आराम करना चाहिए और ना ही जादा भाग दौड़ वाला काम करना चाहिए। जादा भाग दौड़ से जोड़ों को नुकसान हो सकता है और जादा आराम करने से जोड़ों में अकड़न आने लगती है।
  • विटामिन डी हड्डियों के विकास के लिए ज़रूरी है। सूर्य के किरणों में विटामिन डी होता है। एक हफ्ते में कम से कम दो दिन पंद्रह मिनट धूप में बैठा करे।
  • ईमली, दही, पनीर,मक्खन और कच्चा आम खाने से परहेज करे।
  • अपना वजन ना बढ़ने दे।

 

गठिया का होम्योपैथिक इलाज करना चाहते है तो किसी होम्योपैथिक डॉक्टर से मिल कर उनकी सलाह से ही ट्रीटमेंट शुरू करे। इसके इलावा अगर आप जोड़ों और घुटने के दर्द के लिए कोई दवा ले रहे है तो ऊपर बताये हुए देसी नुस्खे भी कर सकते है।

 

इस लेख में आपने जाना अर्थराइटिस की समस्या, घुटने के दर्द और जोड़ों के दर्द का उपचार देसी तरीके से कैसे करे। दोस्तों गठिया का इलाज के उपाय, Gathiya ka ilaj Upay aur Gharelu Nuskhe in Hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास गठिया दर्द का आयुर्वेदिक उपचार और घरेलू नुस्खे से जुड़े अनुभव है तो हमारे साथ भी साँझा करे।

Recent Articles

पिंपल्स के लक्षण,कारण, इलाज

हमारे चारो तरफ वातावरण इतना दूषित हो चूका है,जिसकी वजह से हर इंसान को कोई न कोई परेशानी और रोगो का सामना करना पड़...

पिंपल्स क्या है?

पिंपल्स जिन्हे हम कील-मुंहासे के नाम से भी जानते है| पिंपल्स ज्यादातर चेहरे पर ही निकलते है लेकिन अगर सही समय पर इसकी रोकथाम...

पस (मवाद) वाले पिंपल्स

हम सभी जानते है की पिंपल्स कई प्रकार के होते है,उनमे से एक होते है मवाद(पस ) वाले पिंपल्स| वैसे तो पिंपल्स किसी भी...

पिंपल्स को कैसे हटाए ?

अगर आप पिंपल्स से बहुत ज्यादा परेशान है और आप चाहते है की पिंपल्स देशी नुस्खों से चले जाए तो आप बिलकुल सही जगह...

पिंपल्स को बार बार आने से रोके

पिंपल्स 14 से 35 साल तक की उम्र के पुरुष और महिला दोनों को हो सकते है| महिलाओ के शरीर में हार्मोन्स बदलाव ज्यादा...

16 COMMENTS

  1. Hello sir mera naam Laxman singh hai meri age 38 hai meri wife ki age 35 hai iske sir main dard rehta hai or hemoglobin ki matra bhi kam hai hath paun main bhi dard rahta hai.

    • शरीर में खून की कमी होने के कारण शरीर में कमजोरी दर्द और अन्य शारीरिक समस्याएं हो जाती है, हीमोग्लोबिन बढ़ाने के घरेलू नुस्खे व उपाय आप यहां पढ़े और इनसे भी आराम न मिले तो चिकित्सक से मिले और सलाह ले :: http://kyakyukaise.com/khoon-badhane-ke-gharelu-upay-blood-ki-kami-ilaj-nuskhe/

  2. हैल्लो सर, मेरा नाम अमित हैं, मेरी उम्र 35 साल हैं, इधर 20 दिनों से मेरे दाहिने पैर के घुटने में सूजन और सीढ़ी चढ़ने-उतरने में घुटने में आगे-पीछे दर्द करता हैं, डॉक्टर से चेकउप करवाया तो यूरिक एसिड बॉर्डर लाइन पर था 7.02, उस के कुछ दिन बाद urtica urens होमियोपैथी दवा चलाया यूरिक एसिड कम तो हुआ लेकिन दर्द और सूजन हल्का अभी भी बना हुआ हैं, कृपया कर कोई उपाय बताइये.

  3. Main ek mother hu. Mujhe thodi bhut gathiya ki problem hai mujhe koi gharelu and easy nuskha btaye gathiya ko khatam karne ka. Jo baby ko nuksan na kare feed ki wajah se.

  4. मेरा नाम राजेन्द्र है मेरे पाँच साल से गठिया है हाथ, पैरो, कंधों, कमर में बहुत ज्यादा दर्द है कोई उपाय बताओ.

    • दोस्त जोड़ों में दर्द के उपाय और गठिया का इलाज करने के घरेलू नुस्खे की जानकारी आप ऊपर लेख में पढ़े.

  5. Parijat ke 4-5 patte ko paste bana kar use ek gilas pani me ubale jab tak pani adhi na ho jaye. Fir use thanda kar piye subha khali pet. Ye arthritis ka ek gharelu upchar hai.

  6. Meri age 35 hai aur mere body ke left side me bhut dard rehta hai aur sujan bhi hota hai panjo me bhi dard hota hai ye lagbhag 15-20 dino se hai kuch upay bataye.

  7. मेरे घुटनों कोहनी व हाथों में बहुत दर्द होता है जब मैं आयुर्वेदिक पिसा हुआ एक पाउडर आता है 50 ग्राम का पैकेट आता है बहुत महगा पडता है मैं यह नुस्खा घर पर बनाना चाहता हूँ इसमें क्या क्या सामग्री आता मुझे बतावे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here