माइग्रेन के लक्षण कारण 10 आसान उपाय दवा और योग

Home Remedies - घरेलु नुस्खे माइग्रेन के लक्षण कारण 10 आसान उपाय दवा और योग

माइग्रेन के लक्षण कारण उपाय योग और दवा इन हिंदी: इस रोग को आधा सीसी का दर्द भी कहते है जिसमें सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है। माइग्रेन का दर्द नार्मल head pain नहीं होता ये सिर के किसी भी भाग में हो सकता है और जब तेज दर्द होने की साथ उल्टी भी आये तो परेशानी और बढ़ जाती है। इससे पहले हमने माइग्रेन सिर दर्द दूर करने के लिए रामबाण घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार के बारे में जाना है। इस रोग के ट्रीटमेंट में पतंजलि मेडिसिन, होम्योपैथिक इलाज, योग और प्राणायाम से भी काफी राहत मिलती है। इसके साथ साथ इस बात की भी जानकारी होना जरुरी है की माइग्रेन में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए। आइये जाने baba ramdev patanjali treatment yoga and symptoms of migraine in hindi.

माइग्रेन के लक्षण और कारण, Migraine ke lakshan aur upay in hindi

 

माइग्रेन आधा सिर दर्द के कारण – Migraine Ke Karan

  • ज्यादा टेंशन लेना माइग्रेन होने का बड़ा कारण है।
  • हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित रोगी को आधे सिर में दर्द की समस्या जादा होती है।
  • दिन भर भाग दौड़ करना और पूरी नींद ना मिलना।
  • मासिक धर्म (periods) में कुछ महिलाओं को माइग्रेन की शिकायत होती है।
  • अचानक मौसम में बदलाव आना भी रोग का एक कारण है।
  • दर्द दूर करने की दवाओं का सेवन अधिक करना।

 

माइग्रेन दर्द के लक्षण – Migraine Ke Lakshan

  • तेज रोशनी और ज्यादा आवाज में घबराहट होना
  • आँखे दर्द करना और धुंधला दिखना
  • आधे या फिर पूरे सिर में तेज दर्द करना
  • जी मचलना, उल्टी आना और किसी भी काम में मन ना लगना
  • कमजोरी महसूस होना और भूख कम लगना
  • आधा सिर दर्द करने के साथ अगर इनमें से कोई और लक्षण भी दिखे तो चिकित्सक से मिले।

 

माइग्रेन के घरेलू उपाय नुस्खे और योग

Migraine Ke Gharelu Upay Aur Yoga in Hindi

1. माइग्रेन का दर्द होने पर रोगी को लेटा कर सिर बेड से नीचे की और झुका दे। अब सिर में जिस तरफ दर्द हो रहा है उस तरफ की नाक में कुछ बूंदे सरसों के तेल की डाले और रोगी को सांस ऊपर खिंचने को कहे। इस घरेलू नुस्खे से कुछ ही देर में सिर का दर्द कम होने लगेगा।

2. गाय का देसी घी ले और इसकी 2-2 बूंदे सुबह और शाम नाक में डाले। प्रतिदिन इस उपाय को करने से migraine pain relief मिलता है।

3. आधा सीसी के दर्द से जल्दी छुटकारा पाने के लिए सिर के जिस भाग में दर्द हो वहां गुनगुने तेल से मालिश करे और साथ ही गर्दन, कंधे, हाथों और पैरो की भी अच्छे से मालिश करे।

4. थोड़ा कपूर गाय के घी में मिला कर सिर की हल्की मालिश करे। Half head pain treatment में ये अचूक उपाय है।

5. नींबू के छिल्के पीस ले और इसका पेस्ट बना कर माथे पर लगाए। इस होम रेमेडीज से भी आधे सिर के दर्द की समस्या से राहत मिलती है।

6. माइग्रेन के लिए प्राणायाम और योग भी इस रोग से बचने और इलाज में असरदार है। बाबा रामदेव के अनुसार अनुलोम विलोम प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, जानुशीर्षासन, अधो मुख श्वानासन, शिशुआसन माइग्रेन का योग है।

7. टेंशन ज्यादा लेना इस रोग का एक बड़ा कारण है, माइग्रेन से बचने के लिए ज्यादा तनाव से भी बचे।

8. तेज धूप में ना जाये और तेज खुशबु वाला कोई भी सेंट लगाने से बचे।

9. हर रोज सेब खाएं। माइग्रेन का इलाज जड़ से करने में सुबह खाली पेट सेब खाने से काफी फायदा मिलता है।

10. पानी से माइग्रेन के उपचार में मदद मिलती है, माइग्रेन के रोगी को पानी अधिक पीना चाहिए। इस रोग को ठीक करने में पानी रामबाण काम कर सकता है।

 

माइग्रेन की दवा – Migraine Sir Dard Ki Dawa in Hindi

  • माइग्रेन का होम्योपैथिक इलाज की दवा, Spigelia, Belladonna, Sepia, Canadensis, Sanguinaria.
  • पतंजलि से भी माइग्रेन की आयुर्वेदिक मेडिसिन ले सकते है – दिव्य धारा तेल, गोदंती भस्म, पतंजलि दिव्य प्रवाल पिष्टी।
  • कोई भी अंग्रेजी, आयुर्वेदिक या homeopathic दवा लेने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर मिले और मेडिसिन लेने का सही तरीका अच्छे से जाने।
  • शहद के साथ तुलसी के पत्तों का रस मिला कर इसका सेवन करे। खाली पेट सुबह इस देसी दवा के सेवन से कुछ ही दिनों में माइग्रेन के दर्द से राहत मिलती है।

 

माइग्रेन में क्या खाना चाहिए और क्या ना खाएं

  • माइग्रेन में दही चावल और मिश्री का सेवन अपने भोजन में करे।
  • भारी भोजन और मिर्च मसालेदार ना खाएं।
  • सब्जी में हरी पत्तेदार सब्जी, गाजर, शकरकंद और पालक अपने आहार में शामिल करे।
  • चाय कॉफ़ी से भी अक्सर सिर दर्द दूर करने में मदद मिलती है, माइग्रेन में ज्यादा कड़क चाय और कॉफ़ी का सेवन ना करे।
  • बिना फैट वाला दूध माइग्रेन में राहत पाने में उपयोगी है, इसमें विटामिन बी होता है जो बॉडी में सेल्स को एनर्जी देता है।
  • खाने पीने की बुरी आदतों से परहेज करे और हर रोज सही समय पर ही भोजन करना चाहिए।
  • प्रतिदिन 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए और हो सके तो सोने से पहले रात को एक तांबे के जग में पानी भर कर रखे व सुबह इसी जग से पानी पिए।

 

दोस्तों माइग्रेन सिर दर्द के लक्षण उपाय और योग, Migraine treatment medicine yoga in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास आधा सिर में दर्द का इलाज दवा क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।

Recent Articles

मोतियाबिंद को ठीक करने के लिए कौन से घरेलू उपचार का उपयोग करना चाहिए

मोतियाबिंद आँखों में होने वाला एक रोग है, उसका इलाज करने के लिए सबसे पहले उसकी गंभीता का पता होना चाहिए| अगर मोतियाबिंद की...

मोतियाबिंद के दौरान क्या खाएं

अक्सर बहुत सारे लोग आँखों में मोतियाबिंद की बीमारी हो जाने पर बहुत परेशान हो जाते है| काफी समय पहले मोतियाबिंद बहुत घातक बीमारी...

मोतियाबिंद के दौरान किन चीजों से बचना चाहिए

आँखे हम सभी के लिए अनमोल और बहुमूल्य होती है और कोई भी उन्हें खोना नहीं चाहेगा| आँखों में होने वाले रोगो में से...

मोतियाबिंद से जुड़े जोखिम और जटिलताएं क्या हैं

मोतियाबिंद की परेशानी में अगर आप लापरवाही करते है तो धीरे धीरे बढ़कर आपकी पूरी आँख को प्रभावित कर देता है और आपकी आँखों...

मोतियाबिंद का इलाज

मोतियाबिंद का इलाज आपकी आँखों की जाँच करने के बाद ही उचित ढंग से किया जाता है| कई बार अगर परेशानी ज्यादा नहीं है...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four − two =